किसान भाई ध्यान दे, जल्द करा लें अपनी फसल का बीमा आखरी तारीख है जुलाई का ये दिन

प्रधानमंत्री फसल बीमा के तहत अभी खरीफ की फसल के बीमे किये जा रहे है इसके अंतर्गत किसान अपनी फसल का बीमा करा सकते है, मामूली सी प्रीमियम जमा कराकर किसान अपनी फसल के नुकसान को बचा सकते है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की गई थी योजना के तहत किसानों की फसल का बीमा किसानो से मामूली प्रीमियम जमा करके किया जाता है उसके बाद यदि किसान मि फसल को किसी प्राकृतिक आपदा या किसी अन्य कारण से नुकसान होता है यो किसानों को फसल नुकसान का उचित मुआवजा दिया जाता है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना क्या है ?

प्रधानमंत्री किसान फसल बीमा योजना एक ऐसी योजना है जिसके तहत किसान मामूली प्रीमियम भरकर अपनी फसल का बीमा करवा सकता है बीमा होने के पश्चात किसान की फसल को किसी प्राकृतिक आपदा, अतिवर्षा या ओले या किसी अन्य कारणों से नुकसान होता है तो बीमा कंपनी और सरकार किसान की फसल की नुकसान की भरपाई करते है। यह योजना भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों की फसल के नुकसान की भरपाई के लिए शुरू की थी।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना हाईलाइट

योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना
राज्यभारत के सभी राज्य
लाभार्थीकिसान
उद्देश्यकिसानों के फसल के नुकसान को बचाना
वर्तमान वर्ष2023
फसल बीमा पंजीयन की आखरी तारीख31 जुलाई 2023
फसल बीमा आवेदनऑनलाइन/ऑफलाइन
योजना की शुरुआत किसने कीभारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने
आधिकारिक वेबसाइटhttps://pmfby.gov.in

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आखरी तारीख क्या है ?

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत खरीफ की फसलों के बीमे शुरू हो चुके किसान अपनी फसल का बीमा सहकारी समितियों के माध्यम से भी करवा सकते है। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत आप अपनी फसल का बीमा 31 जुलाई 2023 तक करवा सकते है इसके बाद आप अपनी खरीफ की फसल का बीमा नहीं करवा पाएंगे खरीफ की फसल में बीमे के तहत आप सोयाबीन, मक्का, उडद और भी कई अन्य फसलों का बीमा करवा सकते है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा के पैसे कब मिलते है ?

प्रधानमंत्री फसल बीमा सरकार द्वारा नहीं किया जाता है या बीमा किसी बीमा कंपनी द्वारा किया है, अगर किसी किसान अपनी फसल का बीमा कराया और अगर किसान की फसल का कोई नुकसान नहीं होता है तो किसान को कोई भी मुआवजा या पैसे नहीं मिलते है और प्रीमियम का पैसा बीमा कंपनी के पास जमा ही जाता है जो किसान को वापस नहीं मिलता है। और अगर बीमा कराने के बाद यदि किसी प्राकृतिक कारण से किसान की फसल का नुकसान होता है तो किसानों को तुरतं नुकसान की सूचना सबंधित बीमा कंपनी को देनी होती है इसके बाद बीमा कंपनी के सर्वेयर आपकी फसल का सर्वे करते है और सर्वे के कुछ दिन बाद किसान को उसकी फसल नुकसान की भरपाई दी जाती है।

निष्कर्ष

यह लेख लिखने का हमारा उद्देश्य यह है कि इन योजना की जानकारी सभी किसान भाइयो तक पंहुचे जिससे कि सभी किसान इन योजना के बारें में जान पाए और इस योजना का लाभ उठाकर अपनी फसल के नुकसान को बचाये इस लेख में आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बारें में जानकारी दी गई थी आप इसका कैसे लाभ उठा सकते है और किसान अपनी फसल का बीमा कब तक करवा सकते है सभी जानकारी आपको इस लेख में पढ़ने को मिली आशा करते है कि यह लेख आपको पसंद आया होगा, धन्यवाद।