BharOS : भारत का नया ऑपरेटिंग सिस्टम क्या Android का एकाधिकार खत्म कर पायेगा

BharOS: Will India’s new operating system end Android’s monopoly? भारत का नया ऑपरेटिंग सिस्टम Bharos क्या Android Operating System का एकाधिकार खत्म कर पायेगा? हाल ही में भारत में स्मार्टफोन के लिए स्वदेशी तोर पर विकसित ऑपरेटिंग सिस्टम को बनाने की ख़बरें प्रकाशित हुयी है।  इसी संबंधित कुछ मत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा इस लेख में की गयी है। यदि आप इससे संबंधित जानकारी पाना चाहते है , तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़े।

आज के टाइम पर लगभग सभी लोगो के स्मार्टफोन एंड्राइड या IOS का ऑपरेटिंग सिस्टम वाले ही होंगे। यानि इन दोनों ने डुओपोली स्टैब्लिश कर रखी है। ज्यादातर स्मार्टफ़ोन एंड्राइड OS पर ही चलते है। गूगल की OS के मामले में मोनोपॉली बनी हुयी है।

 What is BharOS (BharOS क्या है?)

यह Android ऑपरेटिंग सिस्टम की ही तरह भारत में निर्मित मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है , जो इंडिजिनस रूप से भारत में विकसित किया गया है।  यह एंड्राइड ऑपरेटिंग सिस्टम की जगह स्मार्टफोन में उपयोग किया जायेगा। इसमें एंड्राइड की कई एकाधिकार नीतियों के खिलाफ ऐसे सिस्टम दिए गए है , जो उपयोगकर्ताओं को इसके उपयोग की स्वतंत्रता प्रदान करता है। जैसे की गूगल के प्री इंस्टॉल्ड एप्लीकेशन को यूजर के द्वारा अनइंस्टाल न कर पाना।

  • IIT मद्रास इनक्यूबेटेड फर्म ने JandK ऑपरेशंस प्राइवेट लिमिटेड (JandK operations private limited) की मदद से एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम BharOS को विकसित किया है।

 

  • यह एक सिक्योर्ड और प्राइवेसी के लिए सेफेस्ट os है। इससे भारत के 100 करोड़ लोगो को फायदा होने वाला है।

 

  • ये ऑपरेटिंग सिस्टम बिना किसी डिफ़ॉल्ट इनस्टॉल एप्प के आएगा।  जैसे कि एंड्राइड में ड्राइव, जीमेल और यूट्यूब प्री इन्सटाल्ड आते है। इसी वजह से उपयोगकर्ताओं को ram एंड rom मेमोरी में ज्यादा स्टोरेज मिलेगा।

 

  • इस ऑपरेटिंग सिस्टम में यूजर को उन ऐप्स का उपयोग करने के लिए मजबूर नहीं किया जाएगा जिनका वे उपयोग नहीं करना चाहते हैं या जिन पर वे भरोसा नहीं कर सकते हैं।

 

  • उपयोगकर्ताओं को केवल उनकी आवश्यकताओं के अनुरूप ऐप्स चुनने और उपयोग करने के लिए अधिक स्वतंत्रता, नियंत्रण और लचीलापन प्रदान करना इसका मुख्य उद्देश्य है।

इस ऑपरेटिंग सिस्टम को जेएनडीके ऑपरेशंस प्राइवेट लिमिटेड (JandK operations private limited) द्वारा विकसित किया गया है, आईआईटी मद्रास और प्रवर्तक टेक्नोलॉजीज फाउंडेशन (IIT madras and Pravartak Technologies Foundation) द्वारा इन्क्यूबेटेड कंपनी  है, जो आईआईटी मद्रास द्वारा स्थापित एक गैर-लाभकारी कंपनी है।

इस सॉफ्टवेयर को कमर्शियल ऑफ-द-शेल्फ हैंडसेट पर इंस्टॉल किया जा सकता है। यह उपयोगकर्ताओं के लिए एक सुरक्षित वातावरण प्रदान करता है और ‘आत्मनिर्भर भारत’ की दिशा में एक महत्वपूर्ण योगदान है।

फाउंडेशन को विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी), भारत सरकार द्वारा अंतःविषय साइबर-भौतिक प्रणालियों (एनएमआईसीपीएस) पर अपने राष्ट्रीय मिशन के तहत वित्त पोषित किया जाता है। यह भारत को उन कुछ देशों के बराबर करने की इच्छा रखता है, जिनके पास वर्तमान में ऐसी क्षमताएं हैं।

जानकारी का सोर्स  IIT Madras Official Website

New Social Media Influencers Rules 2023

What is Android OS (एंड्रॉइड क्या है ?)

Android एक मोबाइल ऑपरेटिंग सिस्टम है , जो आपके मोबाइल में सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर को मैनेज करने और चलाने के लिए जिम्मेदार होता है।  जब भी स्मार्टफोन ऑन होता है , तो ऑपरेटिंग सिस्टम ही सबसे पहले चालु होता है। उसके बाद दूसरे एप्प चलने प्रारम्भ होते है। इसके नाम से ही स्पष्ट है , कि यह मोबाइल को ऑपरेट करता है।

Android

यह मुख्य रूप से स्मार्टफ़ोन, टेबलेट के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह स्मार्टफोन में सबसे पहले ऑन होने वाला सॉफ्टवेयर होता है।  इसे गूगल द्वारा विकसित किया गया है ,लेकिन गूगल ने भी इसे एंड्राइड की स्थापना करने वाले Rich Miner, Andy Rubin, Nick Sears और Crish White से साल 2005 में गूगल ने एंड्राइड को लगभग 50 मिलियन डॉलर देकर खरीद लिया।

Q.1 BharOS Kya Hai?

Ans. BharOS made in india mobile operating system hai.

Q.2 bharos how to install?

Ans. फ़िलहाल यह ऑपरेटिंग सिस्टम सभी के लिए उपलब्ध नहीं है , लेकिन जल्द ही इसे पब्लिक के लिए लांच किया जायेगा।

Q.3 bharos is open source

Ans. no information available.

Q.4 bharos review

Ans. “BharOS Service is a Mobile Operating System built on a foundation of trust, with a focus on providing users more freedom, control, and flexibility to choose and use only the apps that fit their needs.

Join Our Whatsapp Channel for the Latest Updates- View Channel