Cheif Minister शिवराज सिंह ने बताया कल कितनी कितनी बजे आएगी लाड़ली बहना की जुलाई वाली क़िस्त

Cheif Minister शिवराज सिंह ने सभी लाड़ली बहनों के लिए एक खुशखबरी का एलान किया है। मध्यप्रदेश सरकार ने प्रदेश की महिलाओं के लिए एक आर्थिक योजना प्रारम्भ की है, जिसके अंतर्गत पात्र महिलाओं को 1000 रूपये प्रतिमाह दिए जा रहे है। मुख्यमंत्री लाडली बहना योजना के अभी पहली क़िस्त के 1000 रूपये 10 जून 2023 को Cheif Minister शिवराज सिंह चौहान द्वारा सभी लाड़ली बहनों के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर किये थे।

अब सभी लाड़ली बहना योजना की लाभार्थी महिलाएं जुलाई महीने के 1000 रूपये आने का इंतजार कर रही है। मध्यप्रदेश के Cheif Minister शिवराज सिंह ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है कि 10 जुलाई को लाड़ली बहना योजना के तहत 1 हजार रूपये ट्रांसफर किये जायेंगे।

Cheif Minister मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने ट्वीट कर कहा की

मेरी लाड़ली बहनों,

“मैंने आपको वचन दिया था कि हर महीने की 10 तारीख को आपके बैंक खाते में मुख्यमंत्री लाड़ली बहना योजना के तहत 1 हजार रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे। मुझे बताते हुए प्रसन्नता है कि 10 जुलाई को दोपहर 1 बजे इंदौर से मैं आपके खाते में सिंगल क्लिक के माध्यम से राशि डालूंगा।

इसी दिन लाड़ली बहना सेना भी शपथ लेंगी, ताकि वह लाड़ली बहना योजना के साथ ही महिला सशक्तिकरण की अन्य योजनाओं को भी बेहतर तरीके से लागू करने में अपना योगदान दे सकें: CM”

लाड़ली बहना के एक हजार रूपये के लिए ये करना जरुरी

लाडली बहना योजना की लाभार्थी महिलाओं को अपने बैंक अकाउंट से डीबीटी इनेबल करवाना बहुत ही जरुरी है। अगर अभी तक आपने अपने बैंक खाते में डीबीटी सक्रिय नहीं करवाया है, तो जल्दी से बैंक जाकर ये काम जरूर निपटा ले। जिन भी महिलाओं के बैंक खाते में डीबीटी इनेबल नहीं हुआ है उन सभी के जुलाई महीने के 1000 रूपये नहीं आएंगे।

लाड़ली बहना योजना डीबीटी स्थिति चेक करे

जिन भी महिलाओं को पता नहीं  है,की उनके बैंक अकाउंट में डीबीटी सक्रिय है या नहीं तो वे लाड़ली बहना योजना की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर डीबीटी की स्थिति भी चेक कर सकती है।

हमने एक आर्टिकल में बताया है, कि डीबीटी सक्रिय कैसे करें तो आप निचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके देख सकते है, की डीबीटी सक्रिय की स्तिथि कैसे चेक करते है?

लाडली बहना योजना में भुगतान और डीबीटी की स्थिति जाने ,1 हजार नहीं आने पर आपत्ति दर्ज करें