सैलरी अकाउंट के फायदे || Benefits of Salary Account

सैलरी अकाउंट के फायदे

सैलरी अकाउंट के फायदे- अगर आप किसी कंपनी में काम करते हो तो आपने सैलेरी अकाउंट अवश्य खुलवाया होगा आप अपना सेविंग अकाउंट किसी भी बैंक में खुलवा सकते है मगर सैलरी अकाउंट किसी कंपनी द्वारा जहां आप काम करते है उसके सिफारिस पर खुलवाया जाता है सैलरी अकाउंट को खुलवाने के कई फायदे है जिसे आप इस पोस्ट के माध्यम से आगे पढ़ेंगे।

सैलरी अकाउंट क्या है? | What is Salary Account 

सैलरी अकाउंट वो अकाउंट है जहां किसी कंपनी में काम करने वाले कर्मचारी के हर महीने की सैलरी जमा होती है, दूसरे शब्दों में सैलरी खाता वह खाता है जिसे सैलरी जमा करने के लिए खोला जाता है यह खाता सेविंग खाते की तरह ही बैंक में खोला जाता है परंतु इस खाते के कुछ फायदे है जिसे बैंक द्वारा खाताधारकों को दिया जाता है। सैलरी अकाउंट में भी आपको सेविंग अकाउंट की तरह ही सारी सुविधाएं मिलती है जैसे डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड, नेटबैंकिंग आदि इसके अलावा कुछ विशेष सुविधाएं भी बैंक द्वारा सैलरी खाताधारकों को मिलती है।

सैलरी अकाउंट के फायदे | Benefits of Salary Account 

जीरो बैलेंस अकाउंट | Zero Balance Accounts

सैलरी अकाउंट का सबसे बड़ा फायदा यह है कि यह अकाउंट जीरो बैलेंस पर ओपन होता है जिस तरह से आपको सेविंग अकाउंट में न्यूनतम बैलेंस मेन्टेन करना पड़ता है इस खाते में आपको कोई बैलेंस मेन्टेन करने की जरूरत नहीं है क्योंकि यह खाता जीरो बैलेंस पर खुलता है, अगर आप भी किसी कंपनी में काम करते है तो आपको भी सैलरी अकाउंट अवश्य खुलवाना चाहिए इस खाते को खुलवाने के कई फायदे है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Google News Follow us

लोन में आसानी | Apply easy for Loan 

अगर आपका सैलरी अकाउंट है और आपकी सैलरी आपके इस अकाउंट में जमा होती है तो आपको लोन मिलने में काफी आसानी हो जाती है आप सैलरी अकाउंट के जरिये आसानी से होम लोन, कार लोन या पर्सनल लोन ले सकते है क्योंकि आपके स्टेटमेंट में बैंक के पास आपकी आमदनी के पुख्ता सबूत है ऐसे में जो भी बैंक जो आपको लोन देगा उसमें रिस्क बहुत कम रहेगी ऐसे में कोई भी बैंक या फाइनेंस कंपनी आपको आसानी से आपको लोन दे देगी और आपका डॉक्यूमेंट सत्यापन भी तुरतं हो जाएगा।

सैलरी अकाउंट में ओवरड्राफ्ट सुविधा | Overdraft Facility for Salary Account

सैलरी अकाउंट पर बैंक आपको ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी प्रदान करती है पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा के लिए आपका सैलरी अकाउंट दो साल पुराना होना आवश्यक है और उसमें दो साल से लगातार आपके सैलरी अकाउंट में आपकी सैलरी जमा हुई हो बैंक ऐसे खाताधारकों को ओवरड्राफ्ट की सुविधा देता है जिसका सैलरी अकाउंट दो से अधिक साल पुराना हो इसमें खाताधारक को उसके दो महीने की बेसिक सैलरी जितनी ओवरड्राफ्ट की लिमिट मिलती है जिसे खाताधारक कभी भी निकाल सकता है, यह सुविधा केवल सैलरी अकाउंट के उन खाताधारको को मिलती है जिनका सैलरी अकाउंट दो साल से अधिक पुराना हो।

लॉकर चार्ज पर छूट | Benefits on Locker Facility

सैलरी अकाउंट पर कई बैंक आपको लॉकर चार्ज पर भी छूट प्रदान करते है कई बैंक आपको लॉकर चार्ज पर 25% तक छूट प्रदान करते है हालांकि यह छूट सभी बैंकों द्वारा नही दी जाती है इसलिए लॉकर खुलवाने से पहले आप अपने बैंक से कंफर्म कर ले इसके अलावा और भी कई फायदे है ।

निष्कर्ष :- 

इस पोस्ट के माध्यम से आपने सैलरी अकाउंट क्या है और सैलरी अकाउंट के फायदे में पढ़ा इसलिए अगर आप भी कई काम कर रहे हो तो आपको भी एक सैलरी अकाउंट खुलवाना चाहिए जिसमें आपके हर महीने की सैलरी उस अकाउंट में जमा हो जिससे आपको भी सैलरी अकाउंट का फायदा मिले अगर आपने इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ा होगा तो आपको सैलरी अकाउंट के फायदे के बारे में अवश्य पता चल गया होगा। इसी तरह की जानकारी और पोस्ट पढ़ने के लिए हमारा ब्लॉग पढ़ते रहे।

FAQ’s About Salary Account 

Q :- सैलरी अकाउंट क्या है ?

Ans:- जिस खाते में आपकी सैलरी जमा होती है उसे सैलरी अकाउंट कहते है।

Q :- सैलरी अकाउंट कौन से बैंक में खुलवाएं?

Ans:- आप किसी भी बैंक में अपना सैलरी अकाउंट खुलवा सकते है।

Q :- सैलरी अकाउंट के क्या फायदे है ?

Ans:- सैलरी अकाउंट के कई फायदे है जैसे :- जीरो बैलेंस खाता, ओवरड्राफ्ट सुविधा, लोन में आसानी, लॉकर चार्ज पर छूट आदि।

ये भी पढ़े :-

BharOS : भारत का नया ऑपरेटिंग सिस्टम क्या Android का एकाधिकार खत्म कर पायेगा

हमारी लेटेस्ट पोस्ट पढ़ने और ज्यादा जानकारी के लिए हमारे टेलीग्राम ग्रुप में जुड़े 

Professional Blogger for the Government Schemes and Tips & Tricks
Back To Top