PM Vishwakarma Yojana: 13000 करोड़ रूपये के आवंटन के साथ लांच हुयी पीएम विश्वकर्मा योजना

PM Vishwakarma Yojana: पीएम विश्वकर्मा योजना को देश के कारीगरों, शिल्पकारों, और काश्तकारों को प्रशिक्षण और आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए 13 000 करोड़ रूपये के बजट आवंटन के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा प्रारम्भ की गयी है। देश के परम्परागत व्यवसायों में कार्यरत शिल्पकारों/कारीगरों को आधुनिक स्किल्स प्रशिक्षण और आर्थिक सहायता, स्टाइपेंड, और आधुनिक औजार खरीदने के लिए अनुदान सहायता राशि मुहैया कराने के लिए केंद्र सरकार द्वारा पीएम विश्वकर्मा योजना को लांच कर दिया गया है। प्रधान मंत्री ने बताया कि प्राचीन भारत में निर्यात की दिशा में कुशल कारीगर अपने-अपने तरीके से योगदान दे रहे थे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2023 के बजट के बाद ‘PM Vishwakarma Kaushal Samman’ वेबिनार में भी इस बात की चर्चा की थी कि देश के करोड़ो युवाओं को नई स्किल सीखने और रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिए Skill India Mission and Kaushal Rozgar Kendra सरकार द्वारा संचालित किये जा रहे है। उन्होंने स्थानीय क्राफ्ट्स निर्माता और जो अपने हाथों से औजारों से काम करते हैं, उनके लिए पीएम विश्वकर्मा योजना शुरू करने की बात इस वेबिनार में कही थी। और हाल ही में 15 अगस्त 2023 को स्वतंत्रता दिवस के भाषण के दौरान पीएम मोदी ने ‘विश्वकर्मा योजना’ की घोषणा कर दी है।

पीएम विश्वकर्मा योजना क्या है?

पीएम विश्वकर्मा एक केंद्र योजना है, जिसके अंतर्गत देश के ऐसे कारीगर/शिल्पकार/काश्तकार जो अपने हाथों से औजारों से काम करते हैं उन्हें कौशल संवर्धन के लिए प्रशिक्षण तथा कारोबार के लिए आर्थिक सहायता केंद्र सरकार की ओर से प्रदान की जाएगी। देश के छोटे-छोटे कारीगर/शिल्पकार स्थानीय शिल्प के उत्पादन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, पीएम विश्वकर्मा योजना उन्हें सशक्त बनाने पर केंद्रित योजना है। देश के सुनार, सुथार, लोहार, नाई, धोबी, कुम्हार, मूर्तिकार, और राजमिस्त्री जैसे 18 वर्गों को इस योजना का लाभ देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा सूचीबद्ध किया गया है।

PM Vishwakarma Yojana

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना (PM Vishwakarma Yojana) पारम्परिक व्यवसायों को आधुनिक औजार प्रशिक्षण और नवीन तकनीकों के साथ कारीगरों को जोड़ने के लिए प्रारम्भ की गयी सेंट्रल सेक्टर स्कीम है। इस योजना के अंतर्गगत प्रथम चरण में शिल्पकारों/कारीगरों को कौशल  लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा तथा द्वितीय चरण में उन्हें 5% के कम ब्याज दर पर ऋण सहायता भी सरकार की ओर से प्रदान की जाएगी।

पीएम विश्वकर्मा योजना के क्या लाभ/फायदे है?

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान के अंतर्गत विश्वकर्मा समाज के लोगो को प्रशिक्षण तथा आर्थिक सहायता के लाभ देने के लिए इस योजना की शुरुआत की गयी है। पीएम विश्वकर्मा योजना के लाभ निम्नलिखित है-

  1. शिल्पकारों को आधुनिक तकनीक और कौशल संवर्धन का प्रशिक्षण
  2. शिल्पकार को प्रशिक्षण के साथ ₹500 प्रतिदन का स्टाइपेंड
  3. शिल्पकारों को कौशल विकास के लिए बेसिक एवं एडवांस ट्रेनिंग
  4. प्रशिक्षण के बाद प्रथम क़िस्त में ₹ 1 लाख का ऋण
  5. द्वितीय क़िस्त में ₹2 लाख की ऋण सहायता
  6. 5% की कम ब्याज दर पर कुल ₹3 लाख तक का ऋण
  7. शिल्पकारों को वैश्विक बाजार में पहुँच दिलाने के लिए मार्केटिंग में सहायता
  8. आधुनिक टूलकिट प्रशिक्षण, नवीन तकनीकों तक पहुँच भी पारम्परिक व्यवसायों को उपलब्ध होगी
  9. प्रशिक्षण के बाद शिल्पकारों को पीएम विश्वकर्मा सर्टिफिकेट और आईडी कार्ड भी प्रदान किया जायेगा।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना क्या है?

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना को छोटे कारीगरों/शिल्पकारों और हाथ से औजार की मदद से काम करने वाले पारम्परिक व्यवसायों और इसमें सलंग्न नागरिकों को सम्मान देने और इनके प्रशिक्षण तथा आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान के अंतर्गत प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना केंद्र सरकार द्वारा प्रारम्भ की गयी है। सुनार, बढ़ई, लुहार, मूर्तिकार, राजमिस्त्री और अन्य कारीगर, जैसे कई वर्ग, जो समाज के आर्थिक और सामाजिक परिदृश्य के महत्वपूर्ण अंग है।

इन्हे कौशल भारत मिशन और कौशल रोजगार केंद्र के माध्यम से आधुनिक प्रशिक्षण देने और साथ ही आसान ऋण, कौशल, तकनीकी सहायता, डिजिटल सशक्तिकरण, ब्रांड प्रचार तथा मार्केटिंग, विपणन और कच्चे माल की उपलब्धता सुनिश्चित हो इसके लिए इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा प्रयास किया जायेगा।

pm vishwakarma yojana in hindi full information

सरकार शिल्पकारों के लिए स्थानीय बाजारों के साथ-साथ वैश्विक बाजारों की भी तलाश कर रही है, जिसके अंतर्गत गांवों में हाथ के कौशल से जीवन यापन करते है उन्हें आधुनिक ट्रेनिंग, मॉडर्न टूल, और नवीन तकनीकों तक पहुँच इन देश के शिल्पियों को मिल सके। इस योजना के अंतर्गत शिल्पकारों को प्रशिक्षण के साथ-साथ ₹500 प्रतिदिन के हिसाब से स्टाइपेंड भी प्रदान किया जायेगा ताकि उन्हें काम के साथ ही आर्थिक सुरक्षा सहायता भी मिल सके। जब ये प्रशिक्षण को पूरा कर लेंगे तब ₹ 15000 की सहायता राशि इन्हे नवीन उपकरण/औजार खरीदने के लिए सरकार की ओर से प्रदान की जाएगी जिससे उन्हें रोजगार के नए अवसर तलाशने में मदद मिल सके।

पीएम विश्वकर्मा योजना में लोन आवेदन कैसे करें?

पीएम विश्वकर्मा योजना में लोन आवेदन के लिए अभी कोई जानकारी सरकार की ओर से नहीं दी गयी है। यदि भविष्य में इससे जुडी कोई सुचना आती है, तो हम इस पोस्ट में अपडेट कर देंगे। और यदि आप लगातार जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो हमने निचे वाहट्सएप्प ग्रुप और टेलीग्राम चैनल की दे रखी है, आप उन्हें ज्वाइन करले। पीएम विश्वकर्मा योजना के तहत दो किस्तों में लोन दिया जायेगा। इस योजना के पहले चरण में पहली क़िस्त के लिए एक लाख रूपये का ऋण शिल्पकार को दिया जायेगा। फिर दूसरी क़िस्त में ₹ 2 लाख का ऋण 5% के न्यूनतम ब्याज दर पर शिल्पकार को सरकार की ओर से प्रदान किया जायेगा।

पीएम विश्वकर्मा योजना का लाभ किस किस को मिलेगा?

पीएम विश्वकर्मा योजना के पहले चरण में सरकार शिल्पकारों/कारीगरों के 18 वर्गों को इस योजना का लाभ प्रदान कर रही है। यहां हमने निचे सरकार द्वारा सूचीबद्ध वर्गों को दिया है। निम्न शिल्पकार ले सकेंगे योजना का लाभ-

  1. सुनार
  2. सुथार
  3. लुहार
  4. मोची
  5. अस्त्रकार
  6. नाव बनाने वाले
  7. ताला बनाने वाले
  8. राजमिस्त्री
  9. धोबी
  10. हथौड़ा और औजार निर्माता
  11. कुम्हार
  12. मूर्तिकार
  13. मछली जाल बुनकर
  14. टोकरी/झाड़ू/चटाई बनाने वाले
  15. दर्जी
  16. पत्थर तोड़ने वाला
  17. मालाकार
  18. नाई

PM Vishwakarma Yojana Details

[wptb id=3788]

Snapinsta.app 367427683 829559892128497 8448224621730185392 n 1080

पीएम विश्वकर्मा योजना आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक पासबुक
  • वोटर आईडी कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

पीएम विश्वकर्मा योजना आवेदन कैसे करें?

अभी इस योजना के अंतर्गत आवेदन फॉर्म भरना प्रारम्भ नहीं हुए है। विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर 17 सितंबर 2023 को पीएम विश्वकर्मा योजना को लांच किया जायेगा। जब विश्वकर्मा जयंती पर यह योजना लांच की जाएगी तब इसके लिए आवेदन फॉर्म भरने की भी शुरुआत की जाएगी। अभी इसके लिए कोई ऑनलाइन आवेदन नहीं हो रहे है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के बारें में

भारत के प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी ने 17 सितंबर 2023 को विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर देश के शिल्पकारों और छोटे कारीगरों के प्रशिक्षण और आर्थिक सहायता के लिए नई योजना को लांच करने की घोषणा की है। इस घोषणा के अनुसार विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना के अंतर्गत विश्वकर्मा समाज के कारीगरों को सम्मान देने के लिए पीएम विश्वकर्मा योजना प्रारम्भ की गयी है। इस योजना के अंतर्गत शिल्पियों को एक विश्वकर्मा प्रमाण पत्र और आईडी कार्ड बनाकर इन्हे एक नई पहचान दिलाई जाएगी।

हिन्दू धर्म में भगवान विश्वकर्मा को शिल्प का देवता और निर्माणकर्ता माना जाता है और इस वर्ग के कारोबारी भगवान विश्वकर्मा को अपना गुरु मानते है, इसीलिए इस योजना का नाम भी शिल्प के देवता भगवान विश्वकर्मा के नाम पर ‘विश्वकर्मा योजना’ रखा गया है।

हमारा व्हाट्सएप ग्रुप जॉइन करें

यदि भविष्य में इससे जुडी कोई सुचना आती है, तो हम इस पोस्ट में अपडेट कर देंगे। और यदि आप लगातार जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो हमने निचे वाहट्सएप्प ग्रुप और टेलीग्राम चैनल की दे रखी है, आप ज्वाइन करले।